कभी सोचा ना था बचपन इतना जल्दि खो जाएगा

कभी सोचा ना था बचपन इतना जल्दि खो जाएगा। जिम्मेदारिओंके बोझ तले हर वो सपना गुम हो जाएगा। याद आते है वो स्कूल के दोस्त,वो साईकिल की सवारी। गलेमे हाथ डालके घुमना,और वो बाते प्यारी प्यारी। वो मिट्टि के टिले,वो बारिशका पानी। चाँकलेट पे मिले वो स्टिकर्स,जिन्हे लेके होति थी मारामारि। वो झुठमूट का रुठना केहके"जा,तु मेरा दोस्त नहि ", पर झगडा होतेहि आके बोलना"साले,तु नहि तो में भी नहि"। वो टिचरकि डाँटपे ,अँक्टिंग सेहम जानेकी, मन हि मन हँसके बोलना "तुझें भी तो डाँट पडी"। त्योहारोमें घरघर घुमना,भुलके मजहब और जात, शीर कुर्मे के साथ दिवालिकें लड्डू,और बडोंका आशिर्वाद। पिकनिक के वो धमाल गाने,नाचना बेसुरि ताल पर, चुईंगम चबाके चिपकाना ,टिचरजिके शर्ट पर। वो आखरि दिन स्कूलका, "यार मिलते रेहना"बोले आँखोंका पानि, चुपचुपके मन भरकें देखना वो क्लास की "अपनीवालि"। जिंदगिके ईस मुकाम पर, कभी पिछे मुडकेभि देखो यारो, स्कूलके वो दिन, कभि बैठके याद करो यारो। तब पता चलेगा, क्या खोया क्या पाया। तब समझोगे, अरे,सारा जीवन तो युहि गवाया। वो बचपन वापस दे दे कोई, करो रे कोई चमत्कार, दे दे वापस मेरि खिलखिलाति हुई हँसि, और मेरे कमिने दोस्तोंके बाहोंका हार।

Read More »

Ye Jo Furqaton K Azab Hai

Ye Jo Furqaton K Azab Hai Ye Mohabaton K Jawab Hain Ye Wisaal O Wasl ,Ye Qurbaten Ye To Kuch Nahi, Ye To Khwab Hain , Ye Jo Ishq Hum Ne Kia Sanam Ye Muje To Raas Na Aa Ska K Muje To Hijr Ka Gham Mila Tese Aas Pas Gulab Hain , Ye Ajeeb Rasm E Jahaan Hai Ye Bra Ajeeb Asool Hai K Jo Shay Bhi Qabil E Deed Hai Osi Shay Pe So So Naqaab Hain , Meri Saans Se Bhi Qreeb Tar Muje Jaan Se Bhi Aziz Tar Thay Jo Log, Dil Nahi Manta Aey 'Ali' Wo Aik Saraab Hain

Read More »